निर्वाचन कार्य में जुट जाएं सेक्टर मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारी – कलेक्टर

सेक्टर व पुलिस अधिकारियों की बैठक सम्पन्न

 

सेक्टर व पुलिस अधिकारियों की बैठक सम्पन्न
सेक्टर व पुलिस अधिकारियों की बैठक सम्पन्न

ग्वालियर/ विधानसभा निर्वाचन-2018 को शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष रूप से सम्पन्न कराने के उद्देश्य से जिले में तैनात किए गए मजिस्ट्रीयल पॉवर युक्त सेक्टर अधिकारी व उनके साथ तैनात पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक कुमार वर्मा द्वारा एलएनआईपीई सभागार ली गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन, अपर कलेक्टर श्री दिनेश श्रीवास्तव व श्री संदीप केरकेट्टा, एडिशनल एसपी श्री पाण्डेय, सीईओ जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा, एसडीएम डबरा श्रीमती जयति सिंह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आर के पाण्डेय, एसडीएम भितरवार श्री अशोक सिंह चौहान तथा अन्य आरओ, एआरओ व सेक्टर अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक कुमार वर्मा ने सेक्टर अधिकारियों को संबांधित करते हुए कहा कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन के लिये आप सब तैयार रहें। 72 घंटे की मेहनत कर स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं निर्विघ्न निर्वाचन सम्पन्न कराएं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन की सफलता सेक्टर अधिकारियों की मेहनत पर निर्भर है। आज से ही अपने-अपने सेक्टर में भ्रमण करें और सभी तैयारियों व गतिविधियों पर नजर रखें। उन्होंने कहा सेक्टर अधिकारी अपने पुलिस अधिकारियों, संबंधित थाना, आरओ के अलावा पीठासीन अधिकारियों व बीएलओ के मोबाइल नम्बर अपने पास रखें। किसी भी स्थिति में मदद के लिये कंट्रोल रूम या संबंधित अधिकारी को फोन करें।

पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन ने अपने उदबोधन में कहा कि जिले में 289 क्रिटिकल बूथ हैं। इन पर सशस्त्र बल रहेगा। इसके अलावा 131 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 131 पुलिस सेक्टर अधिकारी, 38 थाना प्रभारी, 40 डीएसपी व एडिशनल एसपी को मिलाकर 500 गाडियां सशस्त्र बल के साथ रहेंगीं। जो कि कम्युनिकेशन प्लान के द्वारा एक दूसरे से जुड़ीं रहेंगीं। किसी भी प्रकार की सूचना पर जरूरी बल मुहैया कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम का नम्बर 7049101029 है, जो 24 घंटे चालू रहेगा। उन्होंने सेक्टर पुलिस अधिकारियों से कहा कि अभी से होटलों, हिस्ट्रीशीटर, दारू की दुकानों आदि की सघन निगरानी रखें।

बैठक में बताए गए मुख्य बिंदु

  • 28 नवम्बर को प्रात: 8 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होगा।
  • 80 वर्ष के ऊपर के बुजुर्गों, दिव्यांगजनों, गर्भवती व धात्री माताओं को बिना लाईन के मताधिकार का अधिकार रहेगा।
  • प्रत्येक सेक्टर अधिकारी के पास एक ईवीएम मशीन का सेट व दो कर्मचारी जरूरत के अनुसार अतिरिक्त रूप से रहेंगे।
  • मतदान के पहले मॉक पोल कराया जायेगा।
  • 26 नवम्बर को सायं 5 बजे बाहरी आदमी जिले की सीमा में नहीं रहेंगे।
  • शराब, पैसा, सामग्री आदि के वितरण पर चौकस निगरानी रखी जायेगी।
  • पोलिंग बूथ के आस-पास मतदाता सहायता बूथ रहेगा। पोलिंग बूथ की सीमा के बाहर राजनैतिक दलों के बूथ रहेंगे।
  • बिना अनुमति के कोई वाहन चलते पाए जाने पर तत्काल जब्त कर थाने में रखा जायेगा।
  • पोलिंग बूथ में मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। मीडिया प्रतिनिधि मोबाइल एवं कैमरे से बूथ के अंदर फोटो नहीं ले सकेंगे।
  • प्रत्येक विधानसभा में 9 – 9 मास्टर ट्रेनर रहेंगे। मशीन में दिक्कत आने पर तत्काल पहुँचेंगे।
  • पोलिंग पार्टियों को नहाने-धोने, खाना-पानी की उत्तम व्यवस्था रहेगी। बूथ से बाहर जाना मना है।
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *